Trending Now

Singrauli News : जिले में चारों ओर फैलते धूल के गुबार से नजर नहीं आती सड़क, मौत की सॉंस ले रहे रहवास

Rama Posted on: 2024-06-15 10:15:00 Viewer: 138 Comments: 0 Country: India City: Singrauli

Singrauli News : जिले में चारों ओर फैलते धूल के गुबार से नजर नहीं आती सड़क, मौत की सॉंस ले रहे रहवास Singrauli News: Roads are not visible due to the dust spreading everywhere in the district, residents are breathing death.


जयंत से शक्तिनगर,अनपरा मार्ग की दोनों पटरियों पर फैली राखड़ और कोल डस्ट ने लोगों का जीना किया दुश्वार

Singrauli News : एक ओर हलाकान करती गर्मी तो दूसरी ओर सड़कों पर उड़ रही धूल ने दो-पहिया वाहन चालकों की हालत पतली कर दी है। यहां जयंत से शक्तिनगर अनपरा तक लगभग 18 किलोमीटर का मार्ग लोगों के लिए खतरा बना हुआ है। वैसे भी यह रोड किलर रोड के नाम से विख्यात है, जहां आये दिन हादसे होते रहते हैं। इस मार्ग पर परियोजनाओं के लिए राख और कोयला ले जाते भारी वाहन बल्कर, हाइवा खतरे का कारण बने हुए हैं। इन वाहनों से उड़ती सड़कों पर पड़ी राखड़ धूल का ऐसा गुबार बना देती है कि सड़कों पर कुछ देर के लिए आगे का रास्ता नजर नहीं आता। लोगों का कहना है कि चाहे दिन हो या शाम इस मार्ग पर पर निकलना यानी यमराज से सामना करने से कम नहीं है। बताया जाता है कि परियोजना के लिए परिवहन करते वाहनों से गिरकर सड़कों पर फैली राखड़ और कोल डस्ट धूल का ऐसा गुबार खड़ा करती है कि दूर तक सड़कों पर दिखना आसान नहीं होता है। लोगों का कहना है कि यहां संबंधित परियोजनाओं के आला अधिकारियों से ही नहीं अपितु शासन प्रशासन के नुमाइंदों से भी अनेक बार शिकायत की जा चुकी है, जहां सड़कों पर फैली राखड़ की नियमित सफाई किये जाने की मांग भी की गई। लेकिन यहां अधिकारियों के द्वारा इस ज्वलंत समस्या को नजरअंदाज किया जाता रहा है। जिसकी वजह से यहां आये दिन सड़क हादसे हो रहे हैं और अनेक लोग घायल होकर या तो वैढ़न अस्पताल की शरण में जाते हैं या वे वाराणसी के लिए रेफर कर दिए जाते हैं।

गोरबी खदान व अन्य जिलों में जा रही

राखड़ बताया जाता है कि यहां एनटीपीसी विंध्यनगर से निकल रही राखड़ एनसीएल की बंद हो गई गुरबी खदान और सड़क निर्माण के लिए दूसरे जिलों में जा रही है। भारी वाहनों से ले जायी जा रही यह राखड़ वाहनों से गिरकर सड़क पर फैली रहती है। जो यहां से गुजरने वाले वाहनों के कारण धुंध बनकर उडती रहती है। लोगों ने बताया कि दिन भर उड़ती यह राखड़ लोगों के स्वास्थ्य के लिए खतरा तो बनी ही है, साथ ही आंखों में पड़ने के कारण दो-पहिया वाहन चालक वाहन चलाते हुए विचलित हो जाता है और हादसों का कारण बनता है। यहां दिनभर में लगभग एक दर्जन के करीब हादसे होते रहते हैं, जिसमें कई बार लोगों के आपस में टकरा जाने के कारण विवाद की स्थितियां भी बनती हैं। यहां हो रहे सड़क हादसों की जानकारी ऐसा नहीं की संबंधित विभागीय अधिकारियों को न हो, वे इस समस्या को जानते हुए भी इसे नजर अंदाज कर रहे हैं।

हादसों का कारण बन रहे जहाँ तहाँ खड़े वाहन

एनसीएल खड़िया सीएचपी के पास, शक्तिनगर वाराणसी मार्ग की दोनों पटरियों पर, एनसीएल बीना बस स्टैंड से लेकर रेनूसागर मोड़ तक तथा रेनूसागर से काशी मोड़ जगह-जगह वाहनों को सुधारने के लिए मैकेनिकों की दुकानें खुली हैं, जहां वाहनों को दोनों ओर पटरियों पर हाइवा, ट्रेलर आदि सुधारे जाते हैं। बताया जाता है कि यहां अनपरा मुख्य मार्ग की दोनों पटरियों पर भारी वाहनों के ट्राले मरम्मत के लिए खड़े रहते हैं जो हादसे का कारण बनते हैं। यहां सड़कों पर खड़े इन वाहनों पर न तो पुलिस प्रशासन चालान कर रहा है और न ही शासन प्रशासन के द्वारा कोई एक्शन लिया गया है। यहां हादसों के बाद प्रशासन जागता तो है और आनन फानन में समाजसेवियों और पुलिस, वन विभाग तथा परियोजना प्रबंधन के साथ बैठक कर निर्देश देकर मौन हो जाता है। लोगों का कहना है कि कोई गाइड लाईन तैयार नहीं किए जाने से हादसे हो रहे हैं। ऐसे में लोगों की परेशानी तो बढ़ी ही हैं, साथ ही दुर्घटनाओं का ग्राफ इस मार्ग पर बढ़ा है।

रहवासियों का रहना भी हो रहा मुश्किल

जयंत ,शक्तिनगर, खड़िया बाजार,बीना, कौहरौल, अनपरा के बीच बनी बस्तियों और व्यवसायिक स्थल के लोगों का कहना है कि उड़ रही कोल डस्ट से लोगों का रहना भी दूभर हो रहा है। यहां दौड़ते भारी वाहनों के कारण हवा के साथ उड़ती राखड़ पूरे क्षेत्र में फैल जाती है। फोरलेन सड़क के किनारे बसी बस्तियों में ऐसा कोई भी घर नहीं है, जहां की गृहणियां दिनभर घर में उडक़र आई कोल डस्ट को साफ न करती हों। यहां रहने वालों के घरों में कपड़े आदि भी कहीं काले तो कहीं भूरे हो जाते हैं। वहीं यहां लगे पेड़- पौधे भी राखड़ से सने हुए हैं, इसके स्वास्थ्य पर भी उड़ रही राखड़ का दुष्प्रभाव देखा जा सकता है, जहां अनेक लोग श्वांस और फेंफड़ों से संबंधी रोग से ग्रसित हैं।

Also Read

  

Leave Your Comment!









Recent Comments!

No comments found...!


Singrauli Mirror AppSingrauli Mirror AppInstall